June 23, 2024

Mother Dairy Price Cut: मदर डेयरी ने सोयाबीन, राइस ब्रान तेल के MRP में की भारी कटौती, 14 रुपये प्रति लीटर तक गिराए दाम
Mother Dairy Price Cut: डेयरी प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी मदर डेयरी ने सोयाबीन, राइस ब्रान के तेल के MRP में भारी कटौती की है। मदर डेयरी ने अपने तेल में 14 रुपये प्रति लीटर तक की कटौती की है।

Mother Dairy Price Cut: डेयरी प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी मदर डेयरी ने सोयाबीन, राइस ब्रान के तेल के MRP में भारी कटौती की है। मदर डेयरी ने अपने तेल में 14 रुपये प्रति लीटर तक की कटौती की है। बता दें कि सरकार ने एक दिन पहले ही खाद्य तेल कंपनियों को खाने के तेल के दाम एक सप्ताह के भीतर 10 रुपये प्रति लीटर तक दाम घटाने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद मदर डेयरी ने अपने सोयाबीन, राइस ब्रान के तेल के दामों में ये भारी कटौती का फैसला लिया है।

सरकार ने खाद्य तेल कंपनियों को दिए थे निर्देश

गौरतलब है कि बुधवार को केंद्र सरकार ने खाद्य तेल कंपनियों को निर्देश दिए थे कि वे खाने के तेल के दामों में एक सप्ताह के अंदर 10 रुपये प्रति लीटर तक कम करें। इसके अलावा सरकार ने कंपनियों से कहा है कि वे एक ही ब्रांड के खाद्य तेल के लिए पूरे देश में समान अधिकतम खुदरा मूल्य (MRP) रखें। साथ ही सरकार ने तेल कंपनियों से कहा है कि खाने के तेल के पैकेट में प्रिंट किए गए वजन की तुलना में कम मात्रा मिलने की उपभोक्ताओं की शिकायतों को जल्द से जल्द दूर करें।

तेल की MRP करनी होगी एकसमान

वैश्विक कीमतों में तेजी से गिरावट को देखते हुए खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने सभी खाद्य तेल कंपनियों और प्रमुख निर्माताओं की एक बैठक बुलाई थी। इस बैठक में मौजूदा हालात पर चर्चा की गई और एमआरपी को कम करके उपभोक्ताओं को राहत देने का फैसला लिया गया। पांडे ने बताया कि कंपनियों से हमने खाने के तेल की कीमत में 10 रुपये प्रति लीटर कटौती करने को कहा है। इसके अलावा, सचिव ने कंपनियों से देश भर में समान ब्रांडों के तेल की एक समान एमआरपी बनाए रखने के लिए कहा क्योंकि वर्तमान में अलग-अलग शहरों 3-5 रुपये प्रति लीटर का अंतर है।

विश्व बाजार में खाद्य तेल की कीमतें लुढ़की

गौरतलब है कि भारत अपने खाद्य तेल की जरूरत का 60 प्रतिशत से अधिक आयात करता है। बीते कुछ महीनों में वैश्विक बाजार में खाने के तेल के दाम तेजी से बढ़े थे। इसके चलते घरेलू बाजार में कंपनियों ने भी कीमतों में अब बढ़ोतरी की थी। लेकिन अब विदेशों में भाव मजबूत होने से सरसों, मूंगफली, सोयाबीन तेल-तिलहन, बिनौला, सीपीओ और पामोलीन तेल में सुधार दर्ज हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *